उपायुक्त ने किया पीएमसीएच का निरीक्षण , कैथलैब को बनाया जाएगा कोविड़ अस्पताल , सैम्पल जांच की क्षमता बढ़ाकर प्रतिदिन 900 से 1000 की जाएगी

उपायुक्त ने किया पीएमसीएच का निरीक्षण , कैथलैब को बनाया जाएगा कोविड़ अस्पताल , सैम्पल जांच की क्षमता बढ़ाकर प्रतिदिन 900 से 1000 की जाएगी

उपायुक्त ने किया पीएमसीएच का निरीक्षण , कैथलैब को बनाया जाएगा कोविड़ अस्पताल , सैम्पल जांच की क्षमता बढ़ाकर प्रतिदिन 900 से 1000 की जाएगी

धनबाद। पीएमसीएच के कैथलैब को कोविड़ अस्पताल के रूप में तब्दील किया जाएगा। 100 बेड का यह अस्पताल होगा। अगले सप्ताह गुरुवार तक कैथलैब को कोविड़ अस्पताल के रूप में तैयार कर लिया जाएगा। उक्त जानकारी उपायुक्त ने रविवार को पीएमसीएच के निरीक्षण के दरम्यान दी। उपायुक्त यहाँ कोविड़ 19 को लेकर उपलब्ध तमाम चिकित्सीय व्यवस्था का जायजा लेने पहुँचे थे। उन्होंने बताया वैसे कोरोना संक्रमित मरीज जिन्हें वेंटिलेटर की आवश्यकता है वैसे मरीजो को छोड़कर शेष कोविड़ मरीजो को इस कोविड़ अस्पताल में भर्ती लेकर उनका इलाज किया जाएगा। जिन्हें वेंटिलेटर की आवश्यकता है उन्हें ही कोविड़ अस्पताल (सेंट्रल अस्पताल) भेजा जाएगा। निरीक्षण के दरम्यान उपायुक्त ने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए डॉक्टरों को उपलब्ध की जानेवाली पीपीई किट , मास्क सहित तमाम सुरक्षा साधनों की भी जानकारी ली। साथ ही जूनियर डॉक्टरों के वेतन सम्बंधी मामले से भी अवगत हुए। दूसरी तरफ निरीक्षण के दरम्यान उपायुक्त ने पाया कि पीएमसीएच में रोजाना अनुमन पांच सौ से छह सौ के करीब सैम्पल की जांच हो रही है। इस अनुपात को बढ़ाने के विषय मे उन्होंने यहाँ के चिकित्सकों के साथ बातचीत की। पत्रकारों से बातचीत में उपायुक्त ने कहा कि रोजाना नौ सौ से एक हजार सैम्पल की जांच हो सके ऐसी व्यवस्था पीएमसीएच में तैयार की जा रही है। डॉक्टरों को उपलब्ध की जानेवाली सुरक्षा किट की कमी के सवाल पर उपायुक्त ने कहा डॉक्टर फ्रंट लाइन कोरोना वारियर्स है। उन्हें हरहाल में सुरक्षा किट प्रदान करना है। पीएमसीएच के पदाधिकारी , सिविल सर्जन उन्हें इसपर गम्भीरता दिखानी है।

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *