रांची : भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा क्षतिग्रस्‍त होने पर आज रांची बंद.

रांची : भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा क्षतिग्रस्‍त होने पर आज रांची बंद.

राजधानी रांची में भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा क्षतिग्रस्‍त किए जाने के विरोध में आदिवासी समाज ने शनिवार 15 जून को रांची बंद की घोषणा की है। इससे पूर्व शुक्रवार शाम को मशाल जुलूस निकाला गया। इसमें राज्‍य की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी झारखंड मुक्‍ित मोर्चा के साथ आदिवासी संगठन के लोग शामिल हुए। सुबह आदिवासी संगठन के लोगों ने बिरसा मुंडा की समाधि स्‍थल पर शुक्रवार सुबह जमकर हंगामा किया। वे प्रतिमा को जानबूझकर क्षतिग्रस्‍त करने का आरोप लगा रहे थे। हालांकि अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि किसने प्रतिमा को क्षतिग्रस्‍त किया।

कोकर डिस्टलरी पुल के समीप स्थित भगवान बिरसा मुंडा समाधि स्थल पर लगी प्रतिमा क्षतिग्रस्त किए जाने के बाद आदिवासी समुदाय सड़क पर उतर आया। शुक्रवार को सामाजिक और राजनीतिक संगठनों के लोगों ने समाधि स्थल के पास सड़क जाम कर हंगामा किया। लोगों का कहना था कि जानबूझकर लोगों ने भगवान बिरसा की प्रतिमा क्षतिग्रस्त की है। आक्रोशित लोगों ने कहा कि प्रतिमा तोडऩे वालों की गिरफ्तारी और पुर्ननिर्माण तक सड़क पर ही जमे रहेंगे।

करीब दो घंटे तक सड़क जाम रहा। दो बार पुलिस ने जाम खुलवाया, लेकिन रह-रहकर लोग जाम करते रहे। इस दौरान कोकर से लालपुर चौक की ओर वाहनों का आवागमन ठप रहा। इसकी सूचना मिलने पर वहां सिटी एसपी सुजाता वीणापाणि, सिटी डीएसपी अमित कुमार सिंह, सदर डीएसपी विकास पांडेय, सदर, लालपुर थाना के अलावा नगर निगम के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे। अधिकारियों ने लोगों को समझाया और क्षतिग्रस्त प्रतिमा को अविलंब निर्माण करने का आश्वासन दिया। इसके बाद करीब डेढ़ बजे लोगों ने जाम हटाया। हंगामे के दौरान जेएमएम नेता अंतु तिर्की, आदिवासी जन परिषद के अध्यक्ष प्रेमशाही मुंडा, सहित कई लोग मौजूद थे।

फॉरेंसिक टीम भी पहुंची
घटना से गुस्साए लोग समाधिस्थल के बाहर धरने पर बैठ गए। मौके पर पहुंची नगर निगम की टीम ने जब क्षतिग्रस्त मूर्ति को ढंकने का प्रयास किया तो लोगों ने रोक दिया। कहा कि नगर विकास मंत्री यहां आकर स्थिति स्पष्ट करें। प्रतिमा को तोडऩे वाले को गिरफ्तार किया जाए। इसके बाद ही प्रतिमा को छूने दिया जाएगा। इस दौरान लोगों ने सरकार और नगर विकास मंत्री सीपी सिंह के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मंत्री से अविलंब इस्तीफा देने की मांग भी की। प्रशासन ने अविलंब फोरेंसिक टीम को घटनास्थल पर बुलाया। प्रशासन की मौजूदगी में एफएसएल टीम ने प्रतिमा के टूटे हाथों की जांच की। वहां के सैंपल इकट्ठा किए। इधर, बाद में मंत्री सीपी सिंह भी समाधिस्थल पहुंचे।

शाम में निकाला मशाल जुलूस
इधर, शाम में रांची विश्वविद्यालय से अलबर्ट एक्का चौक तक मशाल जुलूस निकाला गया। इसमें कई समाजिक संगठन शामिल हुए। विरोध स्वरूप शनिवार को रांची बंद का आह्वान किया गया है। इसका झारखंड मुक्ति मोर्चा ने भी अपना समर्थन दिया है।

आंधी की वजह से टूटी प्रतिमा : सिटी एसपी
प्रशासन ने प्रतिमा तोडऩे की बात को सिरे से खारिज कर दिया है। सिटी एसपी सुजाता वीणापाणि ने कहा है कि प्रतिमा काफी पुरानी हो चुकी थी। आंधी-पानी की वजह से प्रतिमा टूट गई। हालांकि, इसकी जांच की जा रही है।

असामाजिक तत्वों पर कार्रवाई की मांग
केंद्रीय सरना समिति ने भगवान बिरसा मुंडा के समाधि स्थल पर लगी प्रतिमा को क्षतिग्रस्त किए जाने वाले असामाजिक तत्वों पर कार्रवाई की मांग की है। इस संबंध समिति ने लालपुर थाने में शिकायत दर्ज करायी है। केंद्रीय अध्यक्ष फुलचंद तिर्की की ओर से दिए गए आवेदन में कहा गया है कि प्रतिमा को क्षतिग्रस्त किए जाने की घटना की जांच की जाए। साथ ही समाधि स्थल में सीसीटीवी कैमरा लगे और पुलिस की तैनाती की जाए।

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *