Elections 2019: आंध्र प्रदेश (0), तमिलनाडु (0)…, ममता बनर्जी ने बताया बीजेपी का रिपोर्ट कार्ड

Elections 2019: आंध्र प्रदेश (0), तमिलनाडु (0)…, ममता बनर्जी ने बताया बीजेपी का रिपोर्ट कार्ड

Elections 2019 पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बीजेपी के बीच अमित शाह की रैली के दौरान हुई हिंसा को लेकर तनातनी बढ़ती ही जा रही है.


Elections 2019: ममता बनर्जी ने बीजेपी के नतीजों की भविष्यवाणी की.

नई दिल्ली: Elections 2019 पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और बीजेपी के बीच अमित शाह की रैली के दौरान हुई हिंसा को लेकर तनातनी बढ़ती ही जा रही है. गुरुवार को ममता बनर्जी ने लोकसभा चुनावों को लेकर बीजेपी का रिपोर्ट कार्ड पेश किया. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी इन चुनावों में 100 के आंकड़े को भी पार नहीं कर पाएगी. ममता बनर्जी ने चुनावों के नतीजों का अनुमान लगाते हुए बीजेपी को गुंडा पार्टी की उपाधि दे डाली. उन्होंने कहा कि बीजेपी पैसों के दम पर जनता के वोट खरीदना चाहती है. उन्होंने कहा कि बीजेपी के नेता 300 से ज्यादा सीटें जीतने का अनुमान लगा रहे हैं लेकिन सच्चाई कुछ और ही है. इसी दौरान उन्होंने बताया कि किस राज्य में बीजेपी को कितनी सीटें मिलने का अनुमान है. ममता बनर्जी के हिसाब से बीजेपी को आंध्र प्रदेश में शून्य, तमिलनाडु में शून्य, महाराष्ट्र में 20 सीटें मिलने की संभावना है. उन्होंने कहा कि इन चुनावों में बीजेपी को करीब 200 सीटों का नुकसान होने वाला है.
बता दें कि कोलकाता में अमित शाह की रैली के दौरान हुई हिंसा के बाद चुनाव आयोग ने प्रचार की सीमा को 20 घंटे पहले ही खत्म कर दिया. टीएमसी बनाम बीजेपी की इस जंग में ममता बनर्जी के समर्थन में कई दल नजर आए. चुनाव आयोग के कदम पर बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने कहा, ‘बंगाल में पीएम मोदी की दो रैलियां हैं, प्रचार पर सुबह से क्यों नहीं बैन लगाया गया. चुनाव आयोग दबाव में काम कर रहा है.’ मायावती ने कहा, ‘चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल में प्रचार पर गुरुवार रात 10 बजे से प्रतिबंध लगाया है, क्योंकि प्रधानमंत्री की दिन के वक्त दो रैलियां हैं… अगर उन्हें प्रतिबंध लगाना ही था, तो आज सुबह से ही क्यों नहीं…? यह पक्षपातपूर्ण है, और चुनाव आयोग दबाव में काम कर रहा है…’
कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने एक बयान में कहा, ‘लोकतंत्र के इतिहास में आज काला दिन है. पश्चिम बंगाल पर चुनाव आयोग के आदेश में अनुच्छेद 14 और 21 के अंतर्गत जरूरी प्रक्रिया का अनुपालन नहीं हुआ है तथा आयोग ने सबको समान अवसर देने के संवैधानिक कर्तव्य का निर्वहन भी नहीं किया. यह संविधान के साथ किया अक्षम्य विश्वासघात है.’वहीं दूसरी ओर तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने बुधवार को कहा कि यह आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उपहार दिया है जो ‘अभूतपूर्व, असंवैधानिक और अनैतिक’ है.

administrator

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *